आर0एल0पी0एस0, झाँसी में बसंत शिविर के दूसरे दिन छात्रों ने किया ओरछा धाम का भ्रमण और छात्राओं ने लिया पाक-प्रशिक्षण

झाँसी। 10 मार्च 2019। पं0 विश्वनाथ शर्मा हिन्दू धर्मार्थ न्यास, झाँसी द्वारा संचालित रानी लक्ष्मीबाई पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने अपने वार्षिक बसंत कालीन शिविर के दूसरे दिन भ्रमण और खेलों का जमकर आनन्द लिया। प्रातः काल योग और मार्शल आर्ट का प्रशिक्षण लेने के पश्चात विद्यार्थियों ने अपने शिविर के साथ स्वल्पाहार ग्रहण किया और फिर छात्रों ने ओरछा धाम की ओर प्रस्थान किया, वहां विभिन्न प्रकार की स्थापत्यकला के नमूने देखे और शिविर का आनन्द अन्त्याक्षरी प्रतियोगिता के साथ अनुभव किया। 
  प्रातःकालीन सभा में छात्राओं ने रानी लक्ष्मीबाई पब्लिक स्कूल स्पोर्ट्स काम्पलेक्स में गोल्फ खेल, हाॅर्स राइडिंग, नौकायन, आब्स्टिकल कोर्स आदि का आनन्द लिया तथा अपने विद्यालय संस्थापक स्व0 (पं0) विश्वनाथ शर्मा जी की पुण्यस्थली के रूप में अप्रत्यक्ष सान्निध्य प्राप्त कर भ्रमण का आनन्द भी उठाया। तत्पश्चात् हस्त शिल्पकला प्रतियोगिता में भाग लेकर अपना कला कौशल दिखाया। दूसरे सत्र में पाक विशेषज्ञ श्रीमती हर्षिता पमनानी से आधुनिक पाक शैली के अन्तर्गत घर पर विभिन्न प्रकार की चाॅकलेट बनाने की आसान विधियों का प्रशिक्षण लिया।
  दूसरे सत्र के प्रशिक्षण में छात्रों के शिविर में उनके लिए विभिन्न खेलों - गोल्फ, घुड़सवारी, नौकायान के साथ साथ फोटो-फ्रेेम काॅम्टीशन आदि अन्तर्समूह प्रतियोगिताएँ आयोजित की गईं जिनमें छात्रों ने बढ़-चढ़ कर प्रतिभाग किया। जबकि छात्राओं ने अपने शिविर में विभिन्न क्रीड़ा प्रतियोगिताओं में भाग लेकर अपने कला-कौशल का प्रदर्शन किया। सायं 7 बजे विद्यार्थियों ने अपने-अपने शिविर परिसर में आयोजित सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम में नृत्य और गीत प्रस्तुत किये। दिनांक 11 मार्च, 2019 को रानी लक्ष्मीबाई पब्लिक स्कूल झाँसी में सायं 6 बजे छात्राओं के शिविर का समापन (कैम्प फायर) किया जाएगा, जिसमें शिविर में भाग लेने वाली सभी छात्राओं के अभिभावक उपस्थित रहेंगे। समापन कार्यक्रम में शिविर में आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं की विजेता छात्राओं को पुरस्कार प्रदान किये जाएंगे। छात्रों के शिविर का समापन दिनांक 12.03.2019 को सायंकाल 6 बजे किया जायेगा। 
  सर्वविदित है कि आर0एल0पी0एस0 के संस्थापक स्व0 (पं0) विश्वनाथ शर्मा जी की परिकल्पना व प्रेरणा से वर्षों से बसन्तकालीन शिविर का आयोजन किया जाता रहा है, जिसका प्रमुख उद्देश्य छात्रों को आत्मनिर्भर बनाने एवं उनकी आन्तरिक प्रतिभा को मुखरित करना है। इस शिविर में छात्र-छात्राओं के लिए पौष्टिक आहार, चिकित्सा, व्यायाम एवं भ्रमण व्यवस्था का सम्पूर्ण व्ययभार विद्यालय प्रबन्धन द्वारा वहन किया जाता है।