गणमान्य बन्धुओं एवं बहिनों आज स्वतंत्रता दिवस के 67वें वर्षगाँठ पर राष्ट्रीय पर्व माने का गौरव अनुभव कर रहे है

आज स्वतंत्रता दिवस के 67वें वर्षगाँठ पर राष्ट्रीय पर्व माने का गौरव अनुभव कर रहे है यह ऐतिहासिक संयोग की बात है कि स्वतंत्रता की ऐतिहासिक शहीद वीरांगना लक्ष्मीबाई की स्मृति  मैं सम्माननीय श्री विश्वनाथ शर्मा जी द्वारा संस्थापित रानी लक्ष्मीबाई ग्रुप आॅफ पब्लिक स्कूल क्षेत्र की प्रतिभावान छात्रों को विभिन्न विषयों का ज्ञान प्रकाश दे रहे है वीरांगना लक्ष्मीबाई ने पूरे देश में स्वतंत्रता के लिये अलख जगाई थी। आत्म बलिदान देकर अमरत्व प्राप्त किया था। इसके पश्चात देशवासियों के हृदय में स्वतंत्रता को एक ऐसी लौ जागृत हुयी जिसमें हजारों अमर शहीदों ने अपने प्राणों की बलि देकर 15 अगस्त 1947 को देश को स्वतंत्रता का गौरव प्रदान किया।

शर्मा जी द्वारा संस्थापित रानी लक्ष्मीबाई पब्लिक स्कूल के माध्यम से प्रतिभावाान छात्रों को शिक्षा के क्षेत्र में कौशल विकास का सुअवसर प्रदान किया श्रद्धेय शर्मा जी ने अपने पूज्य पिता जी वैद्य पंडित रामनारायण शर्मा जी के नाम पर विद्यालय का संस्थापन नहीं किया। विद्यालय के विकास में आदरणीय शर्मा जी एवं श्रीमती गीता शर्मा का विशेष त्याग सराहनीय है जो विद्यार्थियों को विकास के लिये विद्यालय को बन्धुओं देश का विकास एक मात्र शिक्षा के माध्यम से सम्भव है इस दृष्टि से हमें अपने देश को सर्वागींण दृष्टि से विकसित व समर्थ बनाने के लिये हमें शिक्षा को ही प्राथमिकता देनी होगी।

वास्तव में यह आदणीय शर्मा जी का बड़ापन है कि उन्होंने ऐसे राष्ट्रीय पर्व पर मुख्य अतिथि के रूप में ध्वजारोहण हेतु आमंत्रत किया है।

मैंने 96 वर्ष की आयु पूर्ण कर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के रूप में लम्बे अरसे तक देश की सेवा करता रहा देश व समाज के उत्थान के लिये समर्पित रहा आप सबको ऐसे पावन अवसर पर राष्ट्र की सेवा करने का संकल्प लेने हेतु आमन्त्रित करता हूॅ।

विद्यालय का विकास संस्था के योग्य प्रशासक प्राचार्य श्री अशोक कुमार शर्मा के मार्ग दर्शन में प्रगति की ओर अग्रसर रहेगा इस शुभ कामना के साथ मैं अपनी वाणी को विराम देता हूॅ।

अंत में आदरणीय शर्मा जी का हृदय से आभारी हूॅ जो मुझे आमंत्रित कर गौरवान्वित किया। मैं सभी महानुभावों को अपने हृदय से उनको शुभकामना अर्पित करता हॅू।

जय हिन्द।                             जय भारत।

प्रताप सिंह

पूर्व विधायक

स्वतंत्रता सैनानी